प्रमुख गतिविधियाँ

 
‘’नरोन्‍हा स्‍मृति व्‍याख्‍यान’’   

प्रदेश के सुविख्‍यात लोकसेवक पद्मविभूषण स्‍व. श्री आर. पी. नरोन्‍हा की स्‍मृति में ‘’आर्थिक सुधार एवं लोकसेवक’’ विषय पर माननीय श्री जयंत सिन्‍हा, राज्‍य मंत्री, भारत सरकार, वित्‍त मंत्रालय का दिनांक 15.06.15 को व्‍याख्‍यान आयोजित किया गया।

अकादमी का आई. एस. ओ. प्रमाणीकरण   

प्रशासन अकादमी राज्‍य के अधिकारियों के प्रशिक्षण की शीर्षस्‍थ संस्‍थान है । प्रशिक्षण की गुणवत्‍ता को सतत् उच्‍च - स्‍तरीय रखने के उद्देश्‍य से माह अक्‍टूबर 2014 में इस प्रशिक्षण संस्‍थान के द्वारा ISO प्रमाणपत्र प्राप्‍त करने हेतु पहल की गई । इस बाबत् भारत शासन के Quality Council of India (QCI) से सम्‍पर्क किया गया । QCI के द्वारा आयोजित प्रशिक्षणों एवं कार्यशाला में ISO Certification के विभिन्‍न आयामों तथा संस्‍थान द्वारा इसके प्राप्ति हेतु आवश्‍यक तैयारी करने बाबत् प्रशिक्षण दिया गया । ISO Certification के लिए संस्‍थान का उद्देश्‍य, गुणवत्‍ता नीति के साथ ही विभिन्‍न शाखाओं के द्वारा शाखा संबंधी मानक परिचालन प्रक्रियाएं (Standard Operating Procedure) भी बनाई गई। समस्‍त प्रक्रियाओं के पूर्ति उपरान्‍त माह मार्च मे बाह्य अंकेक्षण संस्‍था – इंटरटेक – द्वारा अंतिम बाह्य अंकेक्षण कर प्रशासन अकादमी को 23 अप्रैल 2015 को ISO 9001:2008 प्रमाण पत्र आगामी 3 वर्षों हेतु प्रदान किया गया।

अकादमी को नवाचार एवं उत्‍कृष्‍ट पद्धतियों को विकसि   

भारत सरकार कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग (डीओपीटी) नई दिल्‍ली द्वारा यू.एन.डी.पी. के सहयोग से दिनांक 11 एवं 12 अप्रैल 2015 को प्रथम बार National Symposium on Excellence in Training विषय पर 2 दिवसीय राष्‍ट्रीय संगोष्‍ठी का आयोजन विज्ञान भवन नई दिल्‍ली में किया गया था। संगोष्‍ठी में प्रशिक्षण के क्षेत्र में उत्‍कृष्‍ट कार्य करने वाली प्रशिक्षण संस्‍थाओं (C.T.I./A.T.I.)/मंत्रालयों/विभागों/व्‍यक्तियों (प्रशिक्षकों) से प्रशिक्षण के क्षेत्र में किये गये नवाचारों तथा विकसित की गई उत्‍कृष्‍ट प्रशिक्षण पद्दतियों के प्रदर्शन के लिए निम्‍नानुसार 4 श्रेणियों में प्रविष्टियां आमंत्रित की गईं थी - 1.Development of Training Content and Pedagogy. 2.Methodology and Delivery. 3.Management of Training and Training Establishments. 4.Trainer/Faculty Development. आर.सी.वी.पी. नरोन्‍हा प्रशासन एवं प्रबंधकीय अकादमी, भोपाल द्वारा चारों श्रेणियों में अपनी प्रविष्टियां प्रेषित की गई थीं । देशभर से भारत सरकार, कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग (डीओपीटी) नई दिल्‍ली को इस हेतु कुल 57 प्रविष्टियां प्राप्‍त हुई थीं । प्रशासन अकादमी भोपाल द्वारा प्रस्‍तुत उक्‍त 4 प्रविष्टियों में से 2 प्रविष्टियों Methodology and Delivery श्रेणी के अंतर्गत Video Interactive Didactics For Your Awareness तथा Management of Training and Training Establishments श्रेणी के अंतर्गत Preparation of Training Calendar & Follow-Up With ERP का अंतिम रूप से संगोष्‍ठी में प्रस्‍तुतिकरण हेतु चयन किया गया। उल्‍लेखनीय है कि भारत सरकार कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग (डीओपीटी) नई दिल्‍ली द्वारा आयोजित इस प्रथम संगोष्‍ठी में प्रशासन अकादमी भोपाल की उक्‍त दोनों ही प्रविष्टियों को प्रशिक्षण के क्षेत्र में उत्‍कृष्‍ट कार्य हेतु राष्‍ट्रीय उत्‍कृष्‍टता पुरस्‍कार प्राप्‍त हुये। यह भी उल्‍लेखनीय है कि प्रशासन अकादमी देश की एक मात्र ऐसी प्रशिक्षण संस्‍था है जिसे राष्‍ट्रीय स्‍तर के दो पुरस्‍कार एक साथ प्राप्‍त हुये।

स्वर्ण जयंती समारोह   

स्‍वर्ण जयंती समारोह आर.सी.वी.पी. नरोन्‍हा प्रशासन एवं प्रबंधकीय अकादमी म.प्र.शासन की शीर्षस्‍थ प्रशिक्षण संस्‍था है। इसकी स्‍थापना वर्ष 1966 में मूलत: लाल बहादुर शास्‍त्री लोक प्रशासन संस्‍थान के रूप में हुई थी। इस वर्ष 2016 में अकादमी की स्‍थापना का 50 वां गौरवपूर्ण वर्ष पूर्ण हुआ है। इस अवसर को अकादमी द्वारा “स्‍वर्ण जयंती वर्ष” के रूप में मनाया जा रहा है। इसी उपलक्ष्‍य में दिनांक 05 अक्‍टूबर से 07 अक्‍टूबर 2016 तक 03 दिवसीय स्‍वर्ण जयंती समारोह का आयोजन किया गया। दिनांक 5 अक्‍टूबर को स्‍वर्ण जयंती सभागार का लोकार्पण माननीय श्री लाल सिंह आर्य, राज्‍यमंत्री, सामान्‍य प्रशासन विभाग, म.प्र.शासन के कर कमलों द्वारा किया गया। तत्‍पश्‍चात माननीय मंत्री जी द्वारा अकादमी का संकल्‍प गान, वर्चुअल टूर, फेसबुक पेज, मोबाइल एप तथा त्रैमासिक समाचार पत्र के प्रवेशांक का विमोचन भी किया गया। प्रशासन अकादमी को शीर्षस्‍थ प्रशिक्षण संस्‍था के रूप में लाने वाले अकादमी के पूर्व महानिदेशकों का सम्‍मान भी किया गया। इसी क्रम में अकादमी के सतत विकास लक्ष्‍य एवं सुशासन केन्‍द्र द्वारा नरोन्‍हा स्‍मृति व्‍याख्‍यान माला के अंतर्गत ‘‘भारत में सामाजिक क्षेत्र की चुनौतियां’’ विषय पर श्री एन.सी.सक्‍सेना, पूर्व सचिव, योजना आयोग, भारत सरकार एवं सलाहकार यू.एन.डी.पी. द्वारा व्‍याख्‍यान दिया गया। अकादमी के प्राकृतिक संसाधन, कृषि व जलवायु परिवर्तन केंद्र द्वारा ‘‘जलवायु परिवर्तन के समाधान हेतु सामुदायिक विकेन्‍द्रीकृत जल प्रबंधन एवं नदी पुनर्जीवन’’ विषय पर श्री राजेन्‍द्र सिंह, मैगसेसे पुरस्‍कार विजेता द्वारा व्‍याख्‍यान दिया गया। अकादमी के सीमेट केंद्र द्वारा ‘‘शिक्षा में मानवीय मूल्‍य’’ विषय पर तथा हुडको चेयर द्वारा ‘‘संवहनीय नगरीय विकास’’ विषय पर परिचर्चा आयोजित की गई। अकादमी के महिला संसाधन केंद्र द्वारा ‘‘महिला शिक्षा – सामाजिक एवं आर्थिक परिदृश्‍य’’ विषय पर तथा विवेकानंद पीठ द्वारा ‘‘सिविल सेवा में नैतिकता एवं मूल्‍य’’ विषय पर परिचर्चा आयोजित की गई। सांस्‍कृतिक संध्‍या में पद्मश्री भारती बंधु केेसूफी गायन का आयोजन अकादमी द्वारा किया गया। इसके अतिरिक्‍त अकादमी परिवार के सदस्‍यों हेतु खेलकूद प्रतियोगिताएं भी आयोजित की गई। पुरस्‍कार वितरण व अकादमी परिवार के सदस्‍यों द्वारा सांस्‍कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्‍तुती के साथ ही तीन दिवसीय कार्यक्रम का समापन हुआ।

प्रमुख गतिविधियाँ

प्रकाशन

"एक अनाड़ी की कही कहानी’’ पुस्‍तक का प्रकाशन एवं विमोचन

प्रशासन अकादमी के ज्ञान प्रबंधन एवं सुशासन केन्‍द्र द्वारा प्रदेश के प्रख्‍यात प्रशासक पद्मभूषण स्‍व. श्री आर. पी. नरोन्‍हा की पुस्‍तक “A tale told by an Idiot” का हिन्‍दी अनुवाद “एक अनाड़ी की कही कहानी’’ अकादमी के तत्‍कालीन महानिदेशक श्री इन्‍द्रनील शंकर दाणी द्वारा किया गया है। उक्‍त पुस्‍तक का प्रकाशन राजकमल प्रकाशन प्रा. लि., नई दिल्‍ली द्वारा किया गया। दिनांक 15 जून, 2015 को पुस्‍तक का विमोचन माननीय श्री जयंत सिन्‍हा, राज्‍य मंत्री, भारत सरकार, वित्‍त मंत्रालय के द्वारा किया गया।